Sun. Jan 23rd, 2022

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, SBI Mutual Fund in Hindi से जुडी जानकारी, जैसा की आप जानतें होगें की आजकल Mutual Funds का Market पूरी दुनिया में कितनी तेजी से Grow कर रहा है ऐसे में हमारे देश, भारत में भी इसके प्रति लोगों में जागरूपता आयी है अब लोग Mutual Fund में Investment करने लगे है शायद आप भी करते होगें। वैसे तो हमारे देश में कई तरह के बैंक और कंपनी है जो मटुअल फण्ड में निवेश करवाती है मगर स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के बारे में कहें तो यह सबसे अच्छा बैंक है जो Mutual Funds Investment के लिए सबसे अच्छा माना जाता है।

sbi mutual fund in hindi

Mutual Fund में कैसे करें Investment? – Mutual Fund के किसी Direct Plan में Invest करने का फायदा यह है कि आपको किसी Brokers/वितरक को Commission नहीं देना पड़ता है। क्या आप म्यूचुअल फंड्स Plan में Invest करते हैं? Investment करने से पहले म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) को जान लेना बहुत जरूरी है. इससे आपको Investment के फैसले लेने में Help मिलेगी…

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में बहुत सारी Companies Investor’s से पैसे जुटाती हैं, इस पैसे को वे share में Invest करती हैं, इसके बदले Mutual Fund Investor’s से Charge भी लेती हैं, जो लोग Share Market में Investment से जुडी जानकारी नहीं जानतें है,, उनके लिए म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) निवेश का अच्छा विकल्प है. निवेशक अपने वित्तीय लक्ष्य के हिसाब से Mutual Fund स्कीम चुन सकते हैं…

SBI Mutual Fund में निवेश कैसे ?

[A] आप किसी भी Mutual Fund Companies or Bank की वेबसाइट से सीधे Invest कर सकते हैं, अगर आप चाहें तो किसी Mutual Fund Advisor की Service भी ले सकते हैं…

[B] अगर आप SBI Mutual Fund में सीधे Invest करते हैं तो आप schemes of mutual fund के डायरेक्ट प्लान में निवेश कर सकते हैं. अगर आप किसी Advisors की मदद से निवेश कर रहे हैं तो आप किसी Mutual Fund स्कीम के Regular Plan में निवेश करते हैं।

[C] SBI Mutual Fund के किसी Direct Plan में Invest करने का फायदा यह है कि आपको Commission नहीं देना पड़ता है, इसलिए Long Term Investment में आपका रिटर्न बहुत बढ़ जाता है, इस तरीके से Mutual Fund में निवेश करने में एक दिक्कत यह है कि आपको Self Research करना पड़ता है।

म्यूचुअल फंड के प्रकार ?

  • Equity म्यूचुअल फंड (Equity Mutual Fund)
  • Debt म्यूचुअल फंड (Debt Mutual Fund)
  • Hybrid म्यूचुअल फंड (Hybrid Mutual Fund)
  • Solution ओरिएंटेड म्यूचुअल फंड (Solution Oriented Mutual Fund)

(A) इक्विटी म्यूचुअल फंड (Equity Mutual Fund) – Schemes निवेशकों की रकम को सीधे Investment Share में करती हैं, Small Term में ये स्कीम Risk भरी हो सकती हैं, लेकिन Long Term में इसे आपको बेहतरीन रिटर्न मिलता है।

(B) डेट म्यूचुअल फंड (Debt Mutual Fund) – ये Mutual Fund Scheme डेट सिक्योरिटीज में Invest करती हैं, छोटी अवधि के Financial Target को पूरा करने के लिए निवेशक इनमें Invest कर सकते हैं 5 Years से कम अवधि के लिए इनमें निवेश करना ठीक है…

(C) हाइब्रिड म्यूचुअल फंड स्कीम (Hybrid Mutual Fund) – ये Mutual Fund स्कीम Equity और डेट दोनों में Invest करती हैं, इन स्कीम को Selection करते वक्त भी Investor’s को अपने जोखिम उठाने की क्षमता का ध्यान रखना जरूरी है, इस स्कीम की 6 केटेगरी होती है।

(D) सॉल्यूशन ओरिएंटेड स्कीम (Solution Oriented Mutual Fund) – यह स्कीम किसी खास लक्ष्य या समाधान के हिसाब से बनी होती है। इसमें रिटायरमेंट स्कीम या बच्चे की शिक्षा जैसे लक्ष्य हो सकते है। इसमें पांच साल के लिए निवेश जरुरी होता है।

(E) म्यूचुअल फंड (Mutual Fund ) के Charge – सभी खर्च को एक्सपेंस Ratio कहते हैं, Expense Ratio से आपको यह पता लगता है कि किसी Mutual Fund के प्रबंधन में प्रति यूनिट क्या खर्च आता है Generally यह साप्ताहिक Net Assets के औसत का 1.5-2.5 फीसदी होता है।

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI Mutual Fund) के लिए ऑनलाइन आवेदन यहाँ से कर सकते है – SBI Mutual Fund Website Link

अगर आप स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया से म्यूच्यूअल फण्ड के लिए आवेदन करते है या SBI Mutual FUND में Investment करते है तो आप को कभी भी कोई परेशानी नहीं होगी आप को हमेशा लाभ में ही रहेंगे।

By VpHindiBlogger

Hi friends, My name is VP Yadav from UP. I am the Operational Head and Managing Director of https://nationalinsuranceblog.com My Specialization (10 Years Exp) SEO Analyst Blogging (Hindi Blogger) Affiliate Marketer Wordpress CMS Pinterest Marketing Expert