Types of Banks and their Functions – बैंकों के प्रकार एवं उनके काम

Types of Banks and their Functions In Hindi

आज के समय में विभिन्य प्रकार की आवश्कता पूर्ति के लिए विभिन्य प्रकार के बैंकों की स्थापना की गयी है। जो इस प्रकार है।भारत में बहुत प्रकार के बैंक है जिनके बारे में आप सभी को इस पोस्ट से विस्तार से जानकारी प्राप्त होगी जानिए कितने प्रकार के बैंक होते है और उनके काम क्या क्या होते है।

1. ब्यापारिक बैंक (Commercial Banks) – ऐसे बैंक जो की सामान्य बैंकिंग कार्य करते है, ब्यापारिक बैंक कहलाते है। इनके कार्य बहुत तरह के होते है जानकारी के लिए देखें – Functions of Commercial Banks
2. इंडस्ट्रियल बैंक (Industrial Banks) – इंडस्ट्रियल इकाईयों की मध्यकालीन एवं दीर्घकालीन वित्तीय सहायता एवं तकनिकी परामर्श आदि की आवश्कताओं की पूर्ति हेतु वर्तमान समय में इंडस्ट्रियल बैंकों की ास्थपना की गयी है। जो अपना काम सभी ढंग से कर रही है।
3. कृषि बैंक (Agricultural Banks) – कृषि सम्बंधित वित्तीय आवश्कताओं को ध्यान में रख कर कृषि बैंकों की स्थापना की गयी थी जो आज अपना काम कर रही है।
4. सहकारी बैंक (Co-operative Banks) – सहकारी बैंकों की अस्थापना प्रत्येक राज्य के अधीन सहकारी समिति अधिनियम, के अंतर्गत की जाती है। सहकारी बैंक राज्य सरकार की बैंकिंग संस्था के रूप में कार्य करते है।
5. केंद्रीय बैंक (Central Banks) – सभी देशों में प्रायः एक केंद्रीय बैंक होता ही है जिसे बैंकों का बैंक भी कहा जाता है। भारत का केंद्रीय बैंक, रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया को कहा जाता है। यह बैंक नोट निर्गमन का अधिकार भी रखता है। केंद्रीय बैंक को देश की बैंकिंग ब्यवस्था पर control रखने के साथ साथ समय समय पर अन्य बैंकों को निर्देश देने का अधिकार भी सुरक्षित करती है।
6. विदेशी विनिमय बैंक (Foreign Exchange Banks) – विदेशी ब्यापार सम्बन्धी वित् से सम्बंधित आवश्कताओं की पूर्ति हेतु विदेशी विनिमय बैंकों की स्थापना की जाती है साथ में इन बैंकों द्वारा देश विदेश की मुद्राओं को भी विनिमय किया जाता है।
7. बचत बैंक (Saving Banks) – साधारण वर्ग के ब्यक्तियों द्वारा बचत को प्रोत्साहित करने के लिए बचत बैंक खोले जाते है। इन बैंकों में कम अथवा निश्चित आय वाले ब्यक्तियों से छोटी छोटी धनराशि जमा के रूप में स्वविकार की जाती है, और इन धनराशि को बचत बैंक से निकालने की भी सुबिधा प्रदान की जाती है।
8. अंतर्राष्ट्रीय बैंक (International Banks) – इंटरनेशनल अस्तर पर वित्तीय ब्यवहारों में सुगमता एवं वित्तीय सहायता हेतु अंतरास्ट्रीय बैंकों की स्थापना की गयी है। विश्व बैंक (World Bank), अंतरास्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary fund), अंतराष्ट्रीय वित् निगम (International Finance Corporation), अंतराष्ट्रीय विकास संघ (International Development Association) आदि इस तरह के बैंकों के उदहारण है।

types of banks, functions of banks, type of banking, type of bank, india how many bank, types of banking in india, what is banks, how many types of bank in india..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *