Service Tax in Hindi – सेवा कर से जुडी जानकारी हिंदी में -Sewa Kar Kya Hai?

Service Tax in Hindi – What is Service Tax in India Latest Rate – 14%

सेवा कर – यानि सर्विस टैक्स के बारे में पूरी जानकारी – सेवा कर क्या होता है ? यह क्यों लगाया जाता है ? इसके क्या फायदे है ? इसके क्या रूल्स है ? इसका रजिस्ट्रेशन कैसे होता है ? इसका वर्तमान रेट क्या चल रहा है ? इसका रिटर्न कैसे फाइल करें आदि की जानकारी हिंदी में जाने। (Service tax is governed by Service Tax Rules, 1994) – Service Tax in Hindi

Service Tax in Hindi

सबसे पहले जानते है की सेवा कर यानि सर्विस टैक्स क्या होता है – सर्विस टैक्स किसी ब्यक्ति या कंपनी द्वारा प्रदान की सेवाओं पर लगाया जाता है। उदहारण के रूप में अगर आप ने कोई वेबसाइट खरीदी है जिसका दाम 700 रूपये है तो आप को 700 की जगह 14% सेवा कर के साथ लगभग 800 रूपये तक पेमेंट करना होगा। यही होता है सेवा कर। यह एक Indirect टैक्स होता है, क्योकि ये सेवा प्रदाता द्वारा उसके ब्वसायिक Transaction की अवधि में सेवा प्राप्तकर्ता से वसूल किया जाता है। भारत में सेवा कर बित्त अधिनियम, 1994 के अध्याय V द्वारा 1994 में शुरू किया गया था। जो आज तक जारी है।

सेवा कर (Service Tax) से सम्बंधित 10 महत्वपूर्ण जानकारी हिंदी में – 10 बिंदुवार Important Points

1. वर्ष 1994-95 में पहली बार सेवा कर (Service Tax in Hindi) का आरोपण किया गया, उस समय सरकार को सेवा कर से 407 करोड़ की प्राप्ति हुई वित्तीय वर्ष 2011-12 के दौरान सेवा कर से प्राप्त राशि 97,500 करोड़ हो गयी।
2. वर्ष 2014-15 के ब. अ. में सेवा कर से 2,15,973 करोड़ का राजस्व सरकार ने आकलन किया था, जबकि वास्तविक प्राप्ति 1,68,132 करोड़ ही रही।
3. वर्ष 2015-16 के बजट अनुमानों के अनुसार यह धन राशि 2,09.774 करोड़ अनुमानित की गयी है।
4. सेवा कर (Service Tax in Hindi) का आरोपण एवं संग्रहण वर्तमान में केंद्र सरकार द्वारा ही किया जा रहा है , किन्तु भविष्य में राज्य सरकारें भी इस कर का आरोपण कर सकेगी इसके लिए 95 संबिधान संसोधन विधेयक मई 2003 में संसद ने पारित कर दिया था।
5. उलेखनीय है कि सेवा कर का कोई प्रावधान संबिधान की सातवीं अनसूचि में संघ सूचि , अथवा समवर्ती सूची में अभी तक नहीं है। इसके बावजूद 1 जुलाई 1994 से केंद्र सरकार द्वारा यह कर संबिधान की संघ सूची में प्रदत उस विसेषाधिकार के तहत लगाया जा रहा है, जिसमे कहा गया है कि किसी भी सूचि (संघ राज्य अथवा समवर्ती) में न शामिल किसी कर को लगाने का अधिकार केंद्र का होगा।
6. सेवाओं पर 12% प्रतिसत की दर से सेवा कर व कर राशि पर 3% प्रतिसत का एजुकेशन उपकर 1 जून 2007 से लगाया जा रहा था। 24 फ़रवरी, 2009 को सेवा कर की दर 12% प्रतिसत से घटाकर 10% प्रतिसत कर दी गयी थी तथा ब्यक्तिगत करदाताओं के लिए 3% प्रतिसत का उपकर भी वर्ष 2009-10 के बजट से हटा दिया गया था।
7. वर्ष 2009-10 के दौरान सेवा कर के दायरे में सेवाओं की कुल संख्या 114 हो गयी थी।
8. वर्ष 2011-12 के लिए सेवा कर की दर 10% थी जिसे 2012-13 के बजट में 12% कर दिया गया था।
9. वर्ष 2013-14 तथा 2014-15 के बजट में इसे 12% प्रतिसत ही रखा गया था।
10 . वर्ष 2015-16 के बजट में सेवा कर 12% से बढाकर 14% कर दिया गया है जो वर्तमान में चल रहा है।

Service Tax Registration in Hindi – सर्विस टैक्स पंजीकरण कैसे करें जानकारी हिंदी में Service Tax Rules

सर्विस टैक्स देने वाले लोग, सेवा कर लागू होने के 30 दिन के अंदर अथवा उसकी गतिबिधि शुरू होने के 30 दिन के अंदर अपना पंजीकरण के लिए आवेदन प्रस्तुत करना होगा। कर योग्य सेवा के हर सेवा प्रदाता से यह अपेक्षा की जाती है की वह फॉर्म ST-1 (एसटी-1) की दोहरी प्रतियों में आधिकारिक केंद्रीय उत्पाद शुल्क कार्यालय में प्रस्तुत करके पंजीकरण प्राप्त करें। ‘ पंजीकृत सेवा प्रदाता को निर्धारिती कहा जायेगा ‘ service tax in india

निर्धारिती द्वारा एक से अधिक कर योग्य सेवाएं प्रदान करने पर भी एकल पंजीकरण पर्याप्त होगा। ब्यकित एक ही बार रजिस्ट्रशन में अपनी सारी सेवाओं का उल्लेख कर देगा दूसरी सेवा के लिए दूसरा पंजीकरण जरुरी नहीं होगा एक ही पंजीकरण के जरिये सभी जानकारी मिल जाएगी। कोई भी पंजीकृत निर्धारिती अगर अपनी सेवाएं बंद कर रहा है तो उसको अपना पंजीकरण प्रमाणपत्र तत्काल अभ्यर्पित करना होगा।

अगर कोई निर्धारिती उसी जगह पर कोई और सेवा प्रदान करना शुरू करता है तो नए तरीके से पंजीकरण करने की जरुरत नहीं होती है वो फॉर्म ST-1 (एसटी-1) में ही सब कुछ भर के दोबारा आधिकारिक अधीक्षक को प्रस्तुत कर सकता है।

ब्यक्तियों अथवा सम्बंधित स्वामी और साझेदार फर्म के मामले में सेवा कर (Service Tax in Hindi) तिमाही आधार पर अदा किया जाता है। सेवा कर के पेमेंट की निश्चित तारीख सम्बंधित तिमाही के बिलकुल बाद वाले महीने के पांच तारीख होगी। जैसे तिमाही है April से June, जुलाई से सितम्बर, Oct से Dec और जनवरी से मार्च के लिए भुगतान 31 मार्च को ही किया जायेगा। service tax in india

GST Kya Hai Jankari Hindi Me – GST के बारे में हिंदी में जानकारी ले 

service tax rate 2017-18, service tax details in hindi, service tax kya hai, service tax ki jankari hindi me, sewa kar, sewa kar ke bare me jankari hindi me, sewa kar kya hota hai, new service tax in india, latest service tax ki jankari hindi me, tax kya hota hai, service tax in hindi..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *