KYC in Hindi – KYC क्या है ? इसे भरना जरुरी क्यों होता है ?

KYC in Hindi – KYC क्या है ? इसे भरना जरुरी क्यों होता है ?

KYC एक प्रकार का फॉर्म (Form) होता है जिसका फुल फॉर्म होता है (Know Your Customer), बैंक में अकाउंट (Account) खुलवाना हो, फिक्स्ड डिपाजिट (Fixed Deposit) करना हो, म्यूच्यूअल फण्ड ख़रीदना हो या फिर बीमा लेना हो, सभी में आप से KYC फॉर्म भरवाया जाता है । KYC  यानि (Know Your Customer) को साधारणतया हिंदी में कहेंगे अपने ग्राहक को जानिये, बैंक (Bank) तथा वित्तीय कम्पनियाँ (Financial Companies) इस फॉर्म (Form) को भरवा कर इसके साथ पहचान पत्र के प्रमाण भी लेतीं हैं जिसके जरिये वे अपने ग्राहक (Customer) की पहचान की पुष्टि करते हैं. केवाईसी (KYC )अपने ग्राहकों की पहचान की पुष्टि के लिए एक व्यापार की प्रक्रिया है. भारतीय रिज़र्व बैंक (Reserve Bank of India) के द्वारा बैंकों के लिए ग्राहकों से केवाईसी भरवाना अनिवार्य किया गया है ।

KYC Form भरवाने का मुख्य उद्देश्य (Main Object) यह सुनिश्चित करना है कि जाने या अनजाने में आपराधिक तत्व बैंकिंग प्रणाली (Banking System) का अनुचित प्रयोग अपनी गतिविधियों के लिए ना करें.  Bank भी अपने Customers को KYC द्वारा बेहतर तरीके से समझ सकते हैं उनके वित्तीय लेन-देन (Financial Transaction) को समझ उनकी जरूरतों को अच्छे से पूरा कर सकते हैं.  Bank में केवाईसी (KYC) के लिए Customer के पहचान, Name, Address की पुष्टि करने के लिए फोटो तथा एड्रेस प्रूफ (Photo and Address Proof) यानी पते का प्रमाण लिया जाता है । KYC भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा एक प्रकार Identification है । KYC नीति के तहत आज पूरे World में चोरी की पहचान, फाइनेंसियल धोकाधड़ी (Financial Fraud) मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) साथ ही साथ और भी बहुत सारी चीजों पर अंकुश लगाना आसान हो गया है ।

Bank में Account Open के अलावा लोन (Lone) लेने, लॉकर (Locker) लेने, क्रेडिट कार्ड (Credit) बनवाने, म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund) खरीदने तथा बीमा (Insurance) आदि लेने पर KYC फॉर्म भरने की आवश्यकता होती है । बैंक में लेन – देन के लिए खाता खुलवाने के लिए केवाईसी फॉर्म भरना अनिवार्य है. यदि आप यह फॉर्म नहीं भरते हैं तो बैंक आपको Account खोलने से मना भी कर सकता है । इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप केवल Bank में बचत खाता (Saving Account) ही खोल रहे हैं और बहुत Minimum Amount जमा करवा रहे हैं. किसी भी बैंकिंग लेन देन के लिए केवाईसी फॉर्म (KYC Form) भरना अनिवार्य है । Meaning of  KYC – KNOW YOUR CUSTOMER, KYC बैंकिंग और फाइनेंस के क्षेत्र में इस्‍तेमाल होने वाला एक प्रचलित टर्म है.

KYC के लिए महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखा जाता है, बैंक में अकाउंट खोलते समय या फिर ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करते समय ये फॉर्म भरवाया जाता है, KYC Form में निम्न विवरण (Details) की आवश्यकता होती है ।

KYC Application Form Details

Applicant Name
Applicant Father Name
PAN Card Number
Identity Card Proof
Address Proof Details
Stamp Size Photograph

kyc meaning in banking, kyc full form in bank, kyc full form sbi, kyc kya hai, kyc meaning in hindi, kyc account meaning in hindi, kyc documents list, kyc full form in epf, केवाईसी फॉर्म,  ट्रेडिंग अकाउंट, Know Your Customer, KYC in Hindi, KYC kya hota hai, kyc meaning in banking, know your customer in hindi, kyc full form in bank, kyc form details in hindi, kyc hindi, kyc in hindi, know your customer, kyc information in hindi, kyc application form details in hindi, kyc number in hindi, pf kyc form in hindi, kyc verification in hindi

Other posts you might be interested in:

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) की जानकारी हिंदी में – क्रेडिट कार्ड क्या होता है?
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी योजना इन हिंदी – PM Yojana List in Hindi
Beti Bachao Beti Padhao Yojana – बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना

Public Provident Fund Details in Hindi – PPF एक लाजबाब सेविंग Scheme

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *