Helping You Better Understand

Know about Insurance - Credits - Schemes - Fund & Investments

Currency and their Type Hindi – मुद्रा और उनके प्रकार

Currency and Their Type – मुद्रा और उनके प्रकार

जानिए कितने तरीके की Currency और उनके प्रकार होते है। ज्यादातर लोग केवल कागजी मुद्रा के बारे में ही जानते है। इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को मुद्रा और उसके कितने प्रकार होते है के बारे में कुछ संछेप (short) में जानकारी प्राप्त होगी जिसके आधार पर आप जान पाएंगे की मुद्रा कितने प्रकार की होती है।

दोस्तों, मुद्रा के बारे में हम सभी जानते है की आज के समय में इसके बिना कुछ नहीं होने वाला है, आज इसी को बनाने के लिए न जाने लोग क्या क्या कर रहे है।

मुद्रा और उनके प्रकार – Currency and Their Type

किसी भी कंट्री या देश में रोजमर्रा की खरीद बिक्री सिक्कों और कागज के नोटों का इस्तेमाल किया जाता है यह बात तो हम सभी जानते ही है। साधारणतः किसी देश की मुद्रा को वहां की सरकारी तंत्र के द्वारा ही बनायीं जाती है। जिसको हम कई तरह की मुद्रा के नाम से जानते है। आइये जानते हैं मुद्रा और उनके प्रकार – Currency and Their Type

मुद्रा और उनके प्रकार – Currency and their Type

वास्‍वतिक मुद्रा (Real Money) – ऐसी मुद्रा जिसका Use Daily Life में हो रहा हो उसे Real Money कहते है, किसी देश में प्रचलित सिक्के तथा Note Real Money होते हैं
नजदीकी मुद्रा (Nearest Money) – नजदीकी मुद्रा ऐसी Assets को कहा जाता है जिसे जरूरत पडने पर असनी से Cash Money में परिवर्तित किय जा सके
धातु मुद्रा – जब Money किसी धातु से बनी होती है तो ऐसी Money को धातु मुद्रा कहते हैं सभी सिक्‍के धातु मुद्रा के ही उदाहरण हैं वर्तमान में एक निश्चित आकार-प्रकार एवं तौल वाली Money जिस पर State का वैधानिक चिन्ह अंकित होता है, धातु-मुद्रा कहलाती है

सांकेतिक मुद्रा – ऐसी मुद्रा जो जिस धातु से बनी हो उसका मूल्‍य Money के मूल्‍य से कम हो सांकेतिक मुद्रा कहलाती है

कागजी मुद्रा (Paper Note) – ऐसी मुद्रा नोटों के रूप में निगर्मित की जाती है कागजी मुद्रा पर किसी Govt Officer अथवा Central Govt के गवर्नर के हस्ताक्षर होते है भारत में कागजी मुद्रा का निर्गमन RBI द्वारा किया जाता है

दुलर्भ मुद्रा – ऐसी मुद्रा जिसकी International Market में अधिक Demand हो और उसकी पूर्ति न हो पा रही हो ऐसी मुद्रा को दुलर्भ मुद्रा कहते हैं
सुलभ मुद्रा – ऐसी मुद्रा जिसकी International Market में पूर्ति अधिक हो और जिसकी मांग कम हो ऐसी मुद्रा को सुलभ मुद्रा कहते हैं
प्‍लास्‍टिक मुद्रा – प्लास्टिक मुद्रा विभिन्‍न Banks द्वारा Issue सभी प्रकार के Credit Card और Debit Card को कहते हैं, जो एटीएम हम लोग उपयोग में आये दिन लाते है उसको Plastic Money कहा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

National Insurance © 2018 Frontier Theme